ख्वाबों का कारवां

Photo Credit: abhi373.blogspot.com
Photo Credit: abhi373.blogspot.com

ले कर फिर से हम चले,

ख्वाबों का तेरे कारवां,

छूटा है क्या, क्या पता,

जाएं कहाँ ये जानें ना,

कमबख्त फिर से है रात काली,

सीने में फिर से बेचैनियाँ,

बेलफ्ज़ फिर से हैं गिले,

खामोश फिर से ये जबां,

 ~

तेरी वजह से ही थे,

मेरे जमीं आसमां,

तेरे ही संग सब गया,

किस से कहें बेताबियाँ,

 ले कर फिर से हम चले,

ख्वाबों का तेरे कारवां,

 ~

देखे थे सपने जो कई,

बेबस हैं सारे वो सभी,

उजड़ा सा अब है आशियाँ,

जाए कहाँ ये जानें ना,

कमबख्त फिर से है बात आधी,

साँसों में फिर से चिंगारियां,

सन्नाटे फिर से हैं मिले,

बेख़ौफ़ फिर से तनहाइयाँ,

 ~

तेरी वजह से ही थे,

मेरे जमीं आसमां,

तेरे ही संग सब गया,

किस से कहें बेताबियाँ,

ले कर फिर से हम चले,

ख्वाबों का तेरे कारवां,

छूटा है क्या, क्या पता,

जाएं कहाँ ये जानें ना

___

English Version

Advertisements

12 Comments

Add yours →

  1. beautiful lines Neeraj!

  2. i wish I could read it… but i can’t read this language… 😦

  3. I don’t understand the words but if they are anything like the photo then I am sure they are beautiful. Love, Sheri

Share your emotions:

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: